Breaking

यह ब्लॉग खोजें

शुक्रवार, 30 जुलाई 2021

CBSE Board 12th Result: 12वीं के नतीजे घोष‍ित, 99.37% छात्र पास, ये रहा डायरेक्ट लिंक

 CBSE Board 12th Result 2021: सीबीएसई 12वीं कक्षा के लाखों छात्रों का इंतजार खत्म हुआ है। बोर्ड ने 12वीं के नतीजे जारी कर दिए हैं। पिछले साल की तरह इस साल भी बोर्ड ने मेरिट लिस्ट जारी नहीं की है। जानिए- कैसा रहा रिजल्ट और कैसे चेक करें रिजल्ट।


इस साल 12वीं कक्षा में 99.37% छात्र पास हुए हैं।

CBSE Board 12th Result 2021: सीबीएसई 12वीं कक्षा के लाखों छात्रों का इंतजार आज खत्म हो गया है। बोर्ड ने रिजल्ट जारी करते हुए सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट पर रिजल्ट लिंक को एक्टिवेट कर दिया है। इस साल 12वीं कक्षा में 99.37% छात्र पास हुए हैं। सीबीएसई बोर्ड 12वीं रिजल्ट 2021 में इस साल छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 99.67% और छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत 99.13% रहा। इस साल 99.84 फीसदी स्टूडेंट्स दिल्ली रीजन से पास हुए हैं। आप यहां दिए गए डायरेक्ट लिंक से रिजल्ट चेक कर सकते हैं।

यहां से download करे :- Download result

सरकार ने कोरोना के हालात को देखते हुए इस साल सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी थीं. इसकी घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी। इस बार रिजल्ट सीबीएसई के इंटरनल मार्किंग और निर्धारित फॉर्मूले के आधार पर तैयार किया गया है.


सुप्रीम कोर्ट ने 12वीं के नतीजे जारी करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई तय की थी. इसलिए बोर्ड ने 10वीं से पहले 12वीं के नतीजे जारी कर दिए हैं. बोर्ड ने यह भी साफ कर दिया है कि एक बार में सिर्फ एक ही रिजल्ट जारी किया जाएगा। इससे 10वीं के रिजल्ट का इंतजार कर रहे छात्रों को अभी और इंतजार करना होगा।


छात्र अपने सीबीएसई बोर्ड के परिणाम डिजिलॉकर, उमंग ऐप और अन्य प्लेटफॉर्म पर भी देख सकते हैं। रिजल्ट चेक करने के लिए छात्रों के रोल नंबर डाउनलोड करने का लिंक भी एक्टिवेट कर दिया गया है। इसके अलावा छात्र अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए भी रिजल्ट प्राप्त कर सकेंगे।


सीबीएसई ने इस साल लगातार दूसरे साल कोई मेरिट लिस्ट जारी नहीं की है। आपको बता दें कि सीबीएसई ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट तैयार करने में स्कूलों की मदद के लिए जून में टेबुलेशन पोर्टल लॉन्च किया था। बोर्ड ने एक बयान में कहा था कि इस प्रणाली से आकलन का काम आसान होगा, समय लगेगा और कई अन्य समस्याएं भी कम होंगी.


रिजल्ट तैयार करने के लिए बोर्ड द्वारा गठित 13 सदस्यीय कमेटी ने तय किया था कि 30:30:40 की नीति लागू होगी. इसमें 30 प्रतिशत अंक 10वीं बोर्ड परीक्षा के आधार पर, अगले 30 प्रतिशत अंक 11वीं कक्षा के आधार पर तथा 40 प्रतिशत अंक 12वीं कक्षा की इकाई, मध्यावधि और पूर्व के आधार पर दिए जाएंगे. बोर्ड परीक्षाएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें